August 8, 2020

futurea2z

सफलता हमारा परिचय दुनिया को करवाती है और असफलता हमें दुनिया का परिचय करवाती है| -9414365650

चंद्र दोष स्वभाव में चिड़चिड़ा ही नहीं अपितु आत्महत्या जैसे विचार उत्पन्न कर देता है।

🌙चंद्र दोष का जातक के जीवन पर प्रभाव। 🪐
🙏पिछले कई वर्षो से कई जन्म पत्रिकाओं पर अनुभव किया है
वही आपसे सांझा कर रहा हूँ। 🙏

👉१- लग्न में चंद्र अगर सूर्यु के साथ हो तो जातक अत्यंत सुन्दर, साहसी और बुद्धिमान होता है लेकिन अगर चन्द्रमा नीच अथवा शत्रुगत अवस्था में हो तो आँखों और सिर के पीड़ा भोग सकता है।
👉२- छट्टे भाव का चन्द्रमा स्वभाव को चिड़चिड़ापन एवं मन म तनाव की स्थिति पैदा करता है। जो जीवन भर तकलीफ देने वाली होती है। इस दोष के कारण स्वयं के साथ साथ परिवारजन भी कष्ट झेलते है। यहाँ तक कि जातक के मन में आत्म ह्त्या करने तक के उत्पन्न हो जाते है।
👉३- अष्टम भाव का चन्द्रमा विचारो में स्थाईत्व नहीं आने देता। जिसके कारण जीवन में अनेको बार फैसले परिवर्तित होते रहने के कारण सफलता से दूर रहना पड़ता है।
४- ऐसे जातक अधिक परेशान होने पर आत्म ह्त्या जैस कदम उठाने भी पीछे नहीं हटते।
⏭️⏭️ क्या करे ⏭️⏭️
इस स्थिति में
👉१- जल दान (मानव हो या पशु – पक्षी )
👉२- मेडिटेशन करना
👉३- जिन सहस्त्र नाम की पूजा आराधना एवं जल हवन करना चाहिए।
👉४- चंद्र दोष शांत करने के लिए लग्न , नवम , अथवा कुंडली के आधार पर ऐसे गृह को बलवान करने के लिए वैदिक क्रियाओ से यन्त्र निर्माण करवा कर पास में रखना चाहिए जो चंद्र बल को कमजोर एवं सकारात्मक प्रभाव को बजबूत कर सके।
(इसके लिए अनुभवी वन योग्य ज्योतिषाचार्य से परामर्श लेना चाहिए। )
🙏🙏🙏🙏🙏

>> वास्तु एवं ज्योतिष कंसलटेंट >>
राकेश जैन हरकारा (फ्यूचर वास्तु , प्रताप नगर , जयपुर )
Mob- 9414365650

🤔 अपने whatsapp No पर प्रतिदिन ⏱ दैनिक पंचांग 🤔
पाने के लिए Whatsapp link https://wa.me/919414365650 पर Click कर Ad Panchang Type send करे 🙏 और mobile में number save अवश्य करे।

एवं
https://chat.whatsapp.com/BK4aa3V7pTOLD11PDclZfn
को टच कर ग्रुप ज्वाइन करे।