वास्तु अनुसार घर के किस दिशा या कोण में रसोई बनानी चाहिए?

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वास्तु अनुसार घर के अंदर रसोईघर किस दिशा में होना चाहिए?

घर में रसोई आग्नेय(दक्षिण-पूर्व कोण) दिशा में होना चाहिए। आग्नेय कोण का स्वामी अग्नि होता है। स्वामी अग्नि होने के कारण रसोई का इस दिशा में बनाना अत्यंत शुभ माना जाता हैं।

अगर आग्नेय कोण में जगह नहीं हो तो आप वायव्य (उत्तर-पश्चिम) दिशा में भी आप रसोई को बना सकते हैं। मगर वास्तु शास्त्र के अंदर आग्नेय कोण में बनी रसोई को ही श्रेष्ठ माना जाता है।

अब मैं आपको नीचे रसोई में किस जगह क्या-क्या होना चाहिए वो लिखने का प्रयास कर रहा हूँ। क्यूंकी वो सामान अपनी जगह पर नहीं होंगे तो उसे वास्तु दोष मान जाएगा जिसका दुष्प्रभाव गृहिणी पर पड़ता है।

चूल्हा 

चूल्हे को आग्नेय कोण में रखना चाहिए। चूल्हे को दीवार से सटा कर नहीं रखना चाहिए। चूल्हे को उत्तर दिशा में कभी भी नहीं रखना चाहिए, क्योंकि उत्तर दिशा का स्वामी कुबेर होता हैं। कुबेर की अग्नि से कभी भी नहीं बनती है, इसलिए चूल्हे को वास्तु शास्त्र के अनुसार आग्नेय कोण में ही रखना चाहिए।

स्टोर 

रसोईघर में प्रयोग होने वाले खाद्द्य पदार्थ जैसे आटा, चावल, दाल आदि पश्चिम दिशा या दक्षिण दिशा में रखना चाहिए। जिससे वस्तुओं में कभी भी कमी नहीं आती है, बरकत ही बरकत होती हैं।

खिड़कियाँ 

रसोईघर में उत्तर या पूर्व दिशा में खिड़की होनी चाहिए। जिससे रसोईघर में बनने वाले व्यंजन की गंध ज्यादा न फैले।

💏 15 वर्षो में लगभग 50 हजार जन्म पत्रिकाएँ एवं 5 हजार से अधिक भूमि भवन का वास्तु निरक्षण का अनुभव।
भूमि भवन खरीदने / बनाने से पहले वास्तु एनर्जी चेक करवाना ना भूले।
🌈>> Whatsapp पर दैनिक जैन पंचांग पाने के लिए Send Panchang

🏠 वास्तु सीखें >> 1 जनवरी से ऑफलाइन एवं ऑनलाइन दोनों प्रकार से कोर्स करने की सुविधा।

वास्तु एवं ज्योतिष गौरव – 🙏राकेश जैन हरकारा द्वारा 🙏
राजस्थान जयपुर से >>⏱ दैनिक जैन पंचांग

🏘संपर्क – future Vastu – Jyotish , Pratap Nagar, Jaipur (Rajasthan)

📞Contact – W – 9414365650, 9001169884

Leave a Reply